in

Ehsaas – Poetry Rj Sanju

Title: Ehsaas
Language: Hindi

सुना था या शायद पढ़ा  था , इंसान गम्भीर हो तो अच्छा लगता है, जिम्मेदार लगता है , लेकिन जब बात अपने तक आती है ,, तो पता नहीं क्यों ?? अजीब सी बैचेनी में घिर जाता हु  ,,, शायद में गम्भीर नहीं हु। . या गम्भीरता मुझे पसंद नहीं है। । या ये गम्भीरता मुझे कही न कही मार देती है , जो मुझे रास नहीं आता।

                                         लेकिन कही न कही उसकी बाते मुझे गम्भीर कर देती थी ,, अनचाहे ख्याल दिमाग में आते और दिमाग सुन्न सा पड़ जाता। . मैं नहीं जानता था कि ये क्यों और केसे हो जाता है । . लेकिन ‘उसका’ प्रभाव था, जो मुझे ऐसा बना जाता था ,,, बस्ससस्स ……  कुछ दिन पहले कि बात है, जब में अचानक उससे मिला था,, फेसबुक के पन्ने पलटते पलटते। औरFeeling-Sad फिरर वही हुआ जो होता है । . खुशमिज़ाज बातें  , मजाक, हंसी ठिठोली,, और “वो ” .
जी जी सही समझे आप लेकिन ‘वो’ बहुत गम्भीर था जिसे अपनाने में मुझे कही न कही डर सा लग रहा था। . मैं नहीं जानता था कि ये क्यों डराता है मुझे। . शायद इसलिए क्यों कि मैं कभी इसको समझ नहीं पाया । . या समझने की कोशिश नहीं की  ,, ये यूँ कहु कि समझना नहीं चाहा मैंने । …. और आज ये नौबत आ गई ,, आनी ही थी।
    बस्स्स्स्सस्स इतना कहते कहते रोहन सुबकने लगा ,,, शायद ये उसके पहले प्यार का गम्भीर एहसास था, और इस बार रोहन वाकई बहुत गम्भीर था।
Check Out my work at My official blog  At FireMud FM From here

What do you think?

100 Points
Upvote Downvote

Written by Sanjay Tiwari

Rj Sanju a.k.a. Sanjay Tiwari is the Radio Jockey at FireMud FM.
He writes situational stories and poetry. He covers up Real Life Love stories at his Show and at his official Blog at FireMud FM

His Show-->> Gustakhiyan
Timing-->> Every Tuesday and Thursday 11-12 pm IST
Log on to -->> www.firemudfm.com
Official Blog: https://blog.firemudfm.com/author/rjsanju

Follow Him On Facebook--->> https://www.facebook.com/pages/Rj-Sanju/184960558318442

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GIPHY App Key not set. Please check settings

Loading…

0
The Soham

Interview with The Soham

Stage of Open Mic unplugged

Open Mic Unplugged- A magical Sunday evening : Gig Review